Culture Code Landscape

by Adi & Suhail

supported by
Bipul Pandey
Bipul Pandey thumbnail
Bipul Pandey "laage re" is the 3rd of 3 songs I've ever listened to in the 23 years of my life that have brought me to tears literally. I will surely look forward to your future endeavors. For now, you guys have my utmost respect. Favorite track: Laage Re.
/
  • Streaming + Download

    Includes unlimited streaming via the free Bandcamp app, plus high-quality download in MP3, FLAC and more.

      $8 USD  or more

     

1.
06:55
2.
05:25
3.
05:52
4.
06:36
5.
05:50
6.
05:23
7.
05:15
8.
04:58
9.

credits

released April 16, 2014

All songs composed and produced by Adi & Suhail
Suhail Yusuf Khan - Vocals + Sarangi + Lyrics
Aditya Balani - Guitars + Keys + Electronic music production

Drums Isaac Haselkorn (all except track 3 & 7), Aveleon Giles Vaz (track 3)

Bass Jayant Manchanda, Gaurav Balani, Spencer Stewart

Keys Sharik Hasan

Trumpet Tomos Williams

Voice Shilpa Rao on Zindagi (reprise)

Naina is an adaptation of Baba Bulle Shah poetry
Dil Tere is Punjabi Folk (additional lyrics, Suhail Yusuf Khan)

Recorded and Mixed by Anindo Bose at Plug 'N' Play Studios New Delhi, India
Trumpet recorded by Deri Roberts at DER Studios, Barry, Wales, UK
Vocals on Track 9 recorded by Arvind Vishwakarma at Audio Garage, Mumbai, India
Mastered by Tyrone Fernandes at PhantomPowerMastering, Amsterdam

Cover Art and Design by Sanchit Sawaria
www.adiandsuhail.com
© Adi & Suhail 2014

tags

license

all rights reserved

about

Adi & Suhail New Delhi, India

Adi and Suhail’s musical aesthetic is rooted in simple yet powerful songwriting. The dynamic chemistry of the duo transcends the boundaries of predictability with its experimental and ever evolving sonic footprint.

For Bookings, please contact: Anirudh Voleti | anirudh@oml.in | +91-9920422203

For Press, please contact: Ruhi Batra | Ruhi@littlebignoise.in |
... more

contact / help

Contact Adi & Suhail

Streaming and
Download help

Track Name: Naina
रांझा रांझा करदीनी में आपे रांझा होई
जिस जोगी नाल जोग लगाया, वोही कीतता रोगी
वोही कीतता रोगी

नैना दे आके लग्गे नी सय्यों वसा
नैना दे आके लग्गे
नैना दे आके लग्गे नी सय्यों वसा
नैना दे आके लग्गे

जे जोगी, जोगी मतवारा
जे जोगी, जोगी मतवारा
हथ विच ईल ललाह दी माला
जे जोगी, जोगी मतवारा
नाम है इस डा कमली वाला
नाम है इस डा कमली वाला

नैना दे आके लग्गे नी सय्यों वसा
नैन दे आके लग्गे
नैना दे आके लग्गे नी सय्यों वसा
नैना दे आके लग्गे
Track Name: Sitaare
कुछ गर्दिशों में सितारे यही बात करे हैं सारे
और सोच नहीं सकते के वहाँ तलक वो पोंहचे
कैसे

दूर से चमकने वाले आसमान में उजारा डारे
और पास से जा कर देखो आग के सिवाय कुछ भी नहीं है

एक बंजर सा मन है सन्नाटे का शोर है
जो रोशनी दिखे तुम्हे एक झूटा ज़ोर है
हाँ सोचते होंगे वोभी यूँ कब तक अब जले
इस दुनिया के लिए नुमाईश क्यूँ बने

या करम हो मौला
या करम हो मौला
करम हो मौला
या करम हो मौला
या करम हो मौला
करम हो मौला
या करम हो मौला
या करम हो मौला
करम हो मौला

आतीशों की इन्न वादियों में दूरियाँ
बनानी होंगी हिजाब के पीछे वाली
असलियत दिखानी होगी
ख़तम ना होवे
ख़त्म ना होवे एसी काहानी
सुनानी होगी

एक बंजर सा मन है सन्नाटे का शोर है
जो रोशनी दिखे तुम्हे एक झूटा ज़ोर है
हाँ सोचते होंगे वोभी यून कब तक अब जले
इस दुनिया के लिए नमाईश क्यूँ बने

या करम हो मौला
या करम हो मौला
करम हो मौला
या करम हो मौला
या करम हो मौला
करम हो मौला
या करम हो मौला
या करम हो मौला
करम हो मौला
Track Name: Zindagi
इन कगाज़ी टुकड़ों के पीछे हर
शय मखलूक़ को बर्बाद किया
उँचाइयों की चाहहत में मेने
कुछ सही कुछ ग़लतियों को अंजाम दिया
कुछ कर गुज़र जाने के लिए खुद
को ही खुद से बदनाम किया
अपनी खुशी की खातिर कितनी
खुशियों को बेबाक़ कीया

ज़िंदगी का ये माजरा क्या है
बंदगी का ये सिलसिला क्या है
ज़िंदगी का ये माजरा क्या है

इंसान हैं हम इंसान थे वो भी
जिनके ाश्क़ों बहने दिया
क्यूँ शोर बरपाया है सुकूँ में कैसा
ये तुमने माहौल किया
ये गंगा तीरथ क्या है
जब मेले से मॅन को ना साफ कीया
झूटी तौबा से अच्छा तो काफ़िर
है जिसने कफ्र कहा

ज़िंदगी का ये माजरा क्या है
बंदगी का ये सिलसिला क्या है
ज़िंदगी का ये माजरा क्या है
बंदगी का ये सिलसिला क्या है

कोई तो मिले इतना बता दे मुझ को
कोई तो सही रसता दिखा दे
अरसा हुआ भटके हुए है मुझको
इस राह पे लौव कोई जलादे
जलादे जलादे

ज़िंदगी का ये माजरा क्या है
बंदगी का ये सिलसिला क्या है
ज़िंदगी का ये माजरा क्या है
बंदगी का ये सिलसिला क्या है
Track Name: Pehchaan
बन्दा बन्दे सा ना रहा क्यों यहाँ
केसी उलझन में आ पड़ा
कहलाे आदत कहलाे गुनाह तुम सदा
हल ईसका भी कभी अऐगा
अपनी ही धुन में क्यों रहे हम भला
केसा यह लम्हा अाया था
बस पेहले हर्फ़ में हे छुपा ख़ुश ज़ायक़ा
ऐसा मुझको ही क्यों लगा

क्या है ये अंजान सी इक जगह
बस धुआँ ही धुआँ सा लग रहा
क्या है ये दीवानगी समझू ना
मुझसे मेरी पहचान तो लीजे ना

चुप करके करते हैं गुज़ारा यहाँ
सच कोई सुन ना पाएगा
सूरत जो अच्छी तो मिली अब भला
सीरत ना अच्छी पाएगा
इन लफ़्ज़ों का दौर जो ख़तम अब हुआ
ऐसा मुझको ही क्यों लगा

क्या है ये अंजान सी इक जगह
बस धुआँ ही धुआँ सा लग रहा
क्या है ये दीवानगी समझू ना
मुझसे मेरी पहचान तो लीजे ना

बुगज़ी दिलों को बना कर रखा क्यों
जो तन्हा ना चल पाएगा
बातें ज़ुबान से निकाली क्यों ऐसी
जो खुद ही ना सुन पाएगा